Web hosting क्या है? [Complete guide]

Web hosting क्या है?

Web hosting के साथ शुरुआत कैसे करें? यदि आप website प्रकाशित करना चाहते हैं तो web hosting अनिवार्य है। लेकिन वास्तव में web hosting क्या है? और आप अपना पहला होस्टिंग खाता कैसे चुनेंगे?

में मानता हूँ की, इतने सारे options देखना थोड़ा डराने वाला हो सकता है। यहां में मुख्य होस्टिंग categories और एक अच्छे hosting के लिए सबसे आवश्यक features के बारे में बताऊंगा ताकि आपको अंतिम विकल्प बनाने में मदद मिल सके.

Web hosting क्या है?

सबसे सरल शब्दों में, वेब होस्टिंग यह है कि दुनिया आपकी वेबसाइट के अस्तित्व को कैसे जानती है। Web development(वेबसाइट बनाना) के लिए आजकल मौजूद tutorial की wide range के साथ, कोई भी एक बुनियादी वेबसाइट बना सकता है। लेकिन वह वेबसाइट आपके localhost के बाहर किसी के पास नहीं पहुँचेगी। वेब या इंटरनेट पर प्रकाशित करने के लिए आपको वेब होस्टिंग का उपयोग करना होगा।

अगर technically बताऊ तो, वेब होस्टिंग संगठनों और व्यक्तियों द्वारा इंटरनेट पर अपनी वेबसाइट या वेब पेज पोस्ट करने के लिए उपयोग की जाने वाली सेवा है। जो कंपनी उन्हें ऐसी सेवा प्रदान करती है, उसे वेब होस्ट या होस्टिंग प्रदाता(hosting provider) कहा जाता है।

ये web hosts के पास काफी सर्वर रिसोर्सेज होते है जिससे ये websites को store और operate कर सकते हैं। हर ग्राहक को सबसे उपयुक्त सेवा देने के लिए ऐसे रिसोर्सेज को कुछ categories में विभाजित किया जाता है।

> Domain name क्या है [Complete guide]

वेब होस्टिंग कैसे काम करता है?

जब हम अपनी वेबसाइट बनाते है, तो चाहते है की हमारी वेबसाइट लोगों तक पहुंचे। उसके लिए हमें हमारे वेबसाइट की files को web hosting पर upload करना होगा। ऐसा करने के बाद जब भी कोई यूजर Internet पर अपने वेब ब्राउज़र (Chrome, Firefox, Opera etc.) पर आपके वेबसाइट का domain name टाइप करता है, उदहारण के तौर पर, https://inhindi.site फिर इंटरनेट आपको डोमेन नाम को उस web server के साथ जोड़ देगा जहा आपने अपनी वेबसाइट का data store करके रखा है.

जोड़ने के बाद यूजर आराम से अपने मर्जी मुताबिक वेबसाइट के सरे pages को देख सकता है. डोमेन नाम को होस्टिंग से जोड़ने के लिए DNS(Domain Name System) का उपयोग किया जाता है. इससे डोमेन को ये पता चलता है की आपका वेबसाइट कोनसे sever पर मौजूद है, क्योकि हर domain का एक अलग DNS होता है.  

वेब होस्टिंग के प्रकार क्या हैं?

सर्वर structure और user को सौंपे गए उस सर्वर के हिस्से के आधार पर वेब होस्टिंग के चार प्रमुख प्रकार हैं। नीचे मैंने उनमें से प्रत्येक को अन्य छोटे सॉफ़्टवेयर-केंद्रित वेब होस्टिंग श्रेणियों के साथ बताया हैं:

1. Shared होस्टिंग

Shared होस्टिंग में, एक single सर्वर को कई वर्गों में कंपार्टमेंट किया जाता है। फिर प्रत्येक सेक्शन को यूजर के लिए बुक किया जाता है। तो इस सर्वर के भीतर सभी संसाधनों को कई यूज़र्स के बीच share किया जाता है। 

यह हर यूजर के लिए लगने वाली cost को कम करता है लेकिन संबंधित वेबसाइटों के performance को भी कम करता है। इसके अलावा, shared सर्वर पर एक वेबसाइट अपने संसाधनों की एक महत्वपूर्ण राशि का इस्तेमाल कर सकती है। यह छोटे व्यवसायों या स्टार्टअप या फिर ब्लॉग के लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है जो कम बजट पर चल रहे है।

Pros: 

> सबसे सस्ता दाम

> Beginners के लिए बढ़िया विकल्प

Cons

> संसाधन(resources) शेयर किये जाते है

> Performance में कमी

> अन्य शेयर्ड sites से प्रभावित हो सकता है

> विशाल ट्रैफ़िक को संभालने में असमर्थ

2. VPS होस्टिंग

VPS का अर्थ Virtual Private Server है। VPS होस्टिंग shared होस्टिंग और Dedicated होस्टिंग के बीच एक mixture की तरह है। यह आपको Dedicated होस्टिंग की तरह अपने स्वयं के सर्वर संसाधन होने की खुशी दे सकता है, लेकिन shared होस्टिंग जैसी सस्ती कीमत पर। 

यहां, यूजर को shared होस्टिंग जैसे virtual सर्वर के केवल एक हिस्से का उपयोग करने के लिए मिलता है। लेकिन इस हिस्से पर आप अपनी ऑपरेटिंग सिस्टम(Windows या Linux) को इस्तेमाल कर सकते है और यूजर के लिए एक वर्चुअलाइज्ड सर्वर बनाता है। जैसे एक ऑनलाइन कंप्यूटर।

Unamanaged VPS होस्टिंग यूजर को सर्वर तक रूट एक्सेस का विशेषाधिकार रखने की अनुमति देता है। दूसरी ओर, प्रदाता सभी तकनीकी चीज़ों की देखभाल करता है और Managed VPS होस्टिंग में provide करता है। 

वे सर्वर मैनेजमेंट के विशेषयज्ञ और अन्य विशेषज्ञों को उन मुद्दों को संभालने के लिए असाइन करते हैं ताकि आप अपने व्यवसाय या वेबसाइट की बेहतरी पर ध्यान केंद्रित कर सकें। VPS होस्टिंग एक shared होस्टिंग की तुलना में अधिक महंगा है लेकिन dedicated होस्टिंग की तुलना में बहुत सस्ता है।

Pros:

> रूट एक्सेस कंट्रोल

> समर्पित संसाधन

> गोपनीयता और अनुकूलन

> मामूली रूप से सस्ती

Cons:

> Physical सर्वर लिमिट्स

> तकनीकी कौशल की आवश्यकता हो सकती है

> Housing सर्वर पर निर्भरता

3. Dedicated होस्टिंग

Dedicated होस्टिंग यह सबसे महंगा होस्टिंग प्रकार है और यह सही है। यह आपको पूरे सर्वर का एकमात्र मालिक होने की ख़ुशी देता है। आपके पास अपने सर्वर के सरे संसाधन होते हैं, इसलिए आपकी वेबसाइट का high performance होता है। 

यह किसी भी अन्य होस्टिंग की तुलना में अधिक असीमित ट्रैफ़िक को संभाल सकता है और अधिक traffic को आकर्षित कर सकता है। इस तरह की होस्टिंग में security व्यवस्था भी काफी मजबूत है।

Pros:

> सर्वर संसाधनों का फुल एक्सेस

> High speed और flexibility

> अधिकतम performance

> मजबूत security

> विशाल traffic को संभाल सकते हैं

Cons:

> महंगा

> स्केलेबल नहीं है

> Beginners के लिए नहीं

4. Cloud होस्टिंग

क्लाउड होस्टिंग, होस्टिंग श्रेणियों की लीग में नवीनतम entry है। इसके अस्तित्व के पीछे का कारण इंटरनेट ही है जहाँ कई physical उपकरण जुड़े रह सकते हैं भले ही वे एक दूसरे के पास कहीं भी न हों। 

यह  दुनिया भर में physical सर्वरों के एक नेटवर्क पर निर्भर करता है, जो सॉफ्टवेयर के माध्यम से जुड़ा हुआ है। अंत में, पूरा नेटवर्क एक विशाल सिंगल physical सर्वर के रूप में व्यवहार करता है जिसे कभी भी बढ़ाया जा सकता है।

यदि इस नेटवर्क पर कोई सर्वर में खराबी आती है या डिलीवर करने में विफल रहता है, तो दूसरा सर्वर तुरंत उसकी जगह लेता है। परिणामस्वरूप, यूजर का अनुभव किसी भी तरह से प्रभावित नहीं होता है। यह वेबसाइट को संभावित यूज़र्स को खोने से रोकता है और अधिक traffic को आकर्षित करता है।

आप यहां जितने चाहें उतने संसाधन(resources) जोड़ सकते हैं। यह सभी के बीच सबसे आसानी से स्केलेबल(resources कम या ज्यादा कर सकते है) होस्टिंग विकल्प है। 

यह भी सबसे अधिक cost effective है क्योंकि आप केवल आपके द्वारा उपयोग किए जाने वाले संसाधनों की संख्या के लिए भुगतान करते हैं। और आप डेटा का बैकअप भी ले सकते हैं.

Pros:

> आसानी से स्केलेबल

> कम कीमत

> विशाल traffic को संभाल सकते हैं

Cons:

> समय लेने वाली data रिकवरी

> Limited ग्राहक नियंत्रण

> विक्रेता बंदी

5. विविध

इन चार के अलावा, आप ईमेल, e-commerce और ब्लॉगिंग के लिए विशेष होस्टिंग की भी तलाश कर सकते हैं। विशेष रूप से e-commerce में, कई providers अब सबसे लोकप्रिय कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम जैसे कि Magento, Drupal, Joomla और WordPress के लिए managed plans भी उपलब्ध कराते हैं। आप एक विशिष्ट ऑपरेटिंग सिस्टम जैसे Linux या Windows के लिए भी इस तरह की सेवाएं पा सकते हैं।

वेब होस्टिंग के लिए आवश्यक features

वेब होस्टिंग के लिए आवश्यक features

होस्टिंग accounts होस्टिंग और उनमे supported applications के प्रकार के आधार पर व्यापक रूप से भिन्न होते हैं, लेकिन निचे दिए गए 8 features किसी भी होस्टिंग plan की सबसे बुनियादी आवश्यकताएं हैं:

1. Specifications

Specifications में आमतौर पर disk space की मात्रा (SSD), RAM, CPU core, bandwidth और database शामिल हैं जो एक होस्टिंग account प्रदान कर सकता है। कई होस्टिंग कम्पनिया काफी कम मूल्य पर इन सभी की अनलिमिटेड संख्या में देते हैं।

2. वेबसाइट बिल्डर्स

एक मुफ्त वेबसाइट बनाने में आपको न्यूनतम प्रयास और सुविधाओं के साथ कोई समझौता किए बिना अपनी साइट बना सकते है। 

होस्टिंग plans में, वेबसाइट बनाने की  प्रक्रिया में तेजी लाने के लिए विभिन्न अनुप्रयोगों के लिए one-click इंस्टॉलर भी हो सकते हैं।

3. Free डोमेन

होस्टिंग प्रोवाइडर्स, होस्टिंग खाते के साथ एक free डोमेन प्रदान करना चाहिए। आमतौर पर, वे annaul plans पर ऐसा करते हैं जो एक साल की अवधि से लेकर तीन साल की लंबी अवधि तक हो सकते हैं। 

उनमें से कुछ plans की खरीद के साथ एक मुफ्त डोमेन देते हैं और जब तक आप उनके साथ hosting करते हैं, तब तक आपके पास वह डोमेन रहता है। तो यह थोड़ा मुश्किल हो सकता है लेकिन उनके contract और शर्तों के माध्यम से यह देखने के लिए पढ़ें कि क्या यह वेबसाइट के भविष्य के लिए आपके plans को suit करता है।

4. ईमेल accounts

आप एक होस्टिंग account पर कम से कम 25 ईमेल accounts प्राप्त कर सकते हैं। आम तौर पर, यह इस बात को भी प्रभावित करता है कि आप किस प्रकार की होस्टिंग में निवेश कर रहे हैं। आप shared ईमेल accounts में, डोमेन नाम या customization के साथ unlimited ईमेल accounts प्राप्त कर सकते है।

5. SSL

SSL certificate या Secure Socket Layer सर्टिफिकेट एक सर्वर और उसके क्लाइंट के बीच सुरक्षित encrypted कनेक्शन सुनिश्चित करता हैं। इसलिए client और server के बीच होने वाले डाटा एक्सचेंज secure करता है। SSL से आपके website डोमेन पर एक पैड लॉक मिलता है, जो ब्राउज़र में आपके डोमेन के पहिले लॉक का sign होता है, जो आपकी वेबसाइट सुरक्षित है ये सुनिश्चित करता है।

6. बैकअप

होस्टिंग account को आपकी वेबसाइट का weekly या daily बैकअप प्रदान करना चाहिए। यह महत्वपूर्ण है क्योंकि यह आपको आपके मूलयवान डेटा को खोने से बचा सकता है और किसी भी आपदा के बाद वेबसाइट को तुरंत restore कर सकता है। आप cPanel जैसे अन्य software का उपयोग करके मैन्युअल रूप से अपनी वेबसाइट का बैकअप भी ले सकते हैं।

7. Customer support

हर होस्टिंग कंपनी 24×7 याने 24 घंटे कस्टमर सर्विस का वादा करती है लेकिन कई बार ऐसा नहीं होता है. हमारी ये वेबसाइट Hostgator पर है, और अभी तक उनकी कस्टमर सर्विस मुझे काफी अच्छी लगी.

Web hosting कहा से ख़रीदे?

दुनिया में काफी सारी वेब होस्टिंग कंपनियां है जो बेहतरीन से बेहतरीन वेब होस्टिंग प्रदान करती है. अगर आपके वेबसाइट के visitors India से है, तो आप को India का होस्टिंग खरीदना बेहतर रहेगा। क्योंकि, आपके website का server आपके country से जितना दूर रहेगा आपकी वेबसाइट को access और load होने में ज्यादा टाइम लगेगा। 

अगर आप Indian company से होस्टिंग खरीदते है तो आपको क्रेडिट कार्ड उसे नहीं करना होगा। आप ATM या debit card या फिर UPI से भी payment कर सकते है। होस्टिंग खरीदने के बाद आप आसानी से डोमेन कनेक्ट करके अपनी वेबसाइट शुरू कर सकते है। मैंने कुछ होस्टिंग companies को लिस्ट किया है जो भरोसे लायक है 

Hostgator (हम use करते है)

Bluehost

Godaddy

Hostinger

Bigrock

हमारी ये वेबसाइट Hostgator पर शुरू है, और WordPress ब्लॉग के लिए WordPress company Bluehost को recommend करती है। आप चाहे तो दूसरी अच्छी web hosting खरीद सकते है।

Conclusion

मुझे उम्मीद है की आपको, web hosting kya hai ये समझ आ गया होगा। मेरी हमेशा यही कोशिश रहती है की पाठको को वेब होस्टिंग के बारे में सारी की जानकारी दी जाये, और उन्हें इंटरनेट पर कही ओर ढूंढ़ना न पड़े।

इससे उनके समय की बचत होती है और साडी जानकारी एक ही जगह से मिल जाती है। यदि आपको वेब होस्टिंग के बारेमे कोई भी doubt हो या फिर आपको किसी तरह की help की जरुरत हो तो हमें बेझिजक comments में पूछे।

यदि आपको इस पोस्ट से जानकरी मिली हो तो इसे अपने दोस्तों से social media पर जैसे Facebook, Twitter, & Whatsapp पे जरूर शेयर करे. 

मेरा भारत बदल रहा है, आगे बढ़ रहा है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here