Domain name क्या है [Complete guide]

Domain name क्या है

Domain name कैसे काम करता है, इसके बारे में आपको क्या जानना चाहिए? हम में से अधिकांश को पहले से ही इस बात का अंदाजा है कि domain name क्या है – यह website के address का हिस्सा है.

लेकिन exactly कौन सा हिस्सा है? और इस से महत्वपूर्ण बात यह है कि यह जादुई रूप से कैसे सही IP address को translate करके browser को website को load करने में मदद करता है? मैं इस लेख में domain कैसे काम करता है और इस तरह के सभी सवालों का जवाब दूँगा.

Domain name क्या है – What is domain

एक domain name, सबसे सरल शब्दों में, आमतौर पर World Wide Web (WWW) पर एक website की पहचान है। यह “@” symbol के बाद professional email address के हिस्से के रूप में भी पाया जाता है.

इस नाम में आमतौर पर केवल अक्षर(words) होते हैं, लेकिन number और hyphen भी हो सकते हैं, जैसे “amazon.com” या domain name example के लिए आप हमारी website का domain name – inhindi.site देख सकते है.

एक domain name का उद्देश्य किसी विशेष online entity (जैसे websites) के IP address को मनुष्यों के लिए पढ़ने में आसान और आसानी से यादगार बनाना है.

इसलिए आप internet पर मौजूद अरबों websites के बीच बहुत अधिक सहजता से उनकी पहचान कर सकते हैं.

एक domain name किसी भी कंपनी को email communication के लिए एक professional email प्रदान करने में मदद करता है. जो सिस्टम यह सब संभव बनाता है. उसे Domain Name System (DNS) कहा जाता है.

एक IP address में dots द्वारा अलग किए गए अंकों की एक श्रृंखला या अनुक्रम होते हैं. Internet के विशाल space में, किसी के लिए भी अपने पसंदीदा website तक पहुंचने के लिए संख्याओं के इन अनुक्रमों को याद रखना impossible है.

यही कारण है कि हम इसके बजाय domain name का उपयोग करते हैं जो आमतौर पर compact और उच्चारण करने में आसान होता है.

नतीजतन, हमारे लिए यह आसान है कि हम उन्हें याद रखें या search engine(जैसे Google) पर उनकी खोज करें.

Domain name और website के बीच अंतर क्या है?

हालाँकि “domain name” और “website” का उपयोग करना एक आम बात है, लेकिन वे वास्तव में same चीज़ नहीं हैं.

एक domain name एक website की पहचान के रूप में काम करता है. यह एक website के unique location की पहचान करता है और आपको विशाल internet स्पेस में इसे आसानी से पहचानने में मदद करता है. तो, एक website एक घर की तरह है और उसका domain name उसके official पते की तरह है.

Domain  name खरीदने और register करने के बाद, आप केवल पते के मालिक होंगे, न कि घर के. आपको अभी भी एक web hosting सेवा की आवश्यकता होगी.

कई domain hosting कम्पनियाँ  दोनों domain regitrar है  (जहां आप domain name रजिस्टर कर सकते हैं) और web hosting सेवाएं भी देती है, इसलिए आप दोनों सेवाएं एक ही companyपर प्राप्त कर सकते हैं.

Domain name और URL के बीच अंतर क्या है?

यह आम जनता के बीच एक और आम भ्रम है.  एक domain name, website की पहचान होने के नाते, उसके URL का भी एक हिस्सा है.  एक URL या Uniform Resource Locator में domain name के साथ अन्य भाग शामिल हो सकते हैं क्योंकि यह हर बार एक विशिष्ट वेब पेज को refer करता है.

Domain name पूरी website को refer करता है, इसलिए यह समझता है कि इसे  किसी अन्य component की आवश्यकता है. एक Domain name से बने सामान्य आधार पर कुछ slugs और subdirectories को जोड़कर, हम एक विशेष webpage पर पहुंच सकते हैं. 

जैसे आप ihindi.site पर domain-kya-hai इस slug को “/” के बाद जोड़कर इस लेख के webpage पर पहुँच सकते है, कुछ इस तरह से – inhindi.site/domain-kya-hai. 

यह पूरा पता एक साथ उस webpage के URL को दर्शाता है.

Domain names  कहाँ से आते हैं?

Domain name मूल रूप से ICANN यानी  Internet Corporation for Assigned Names and Numbers से आते हैं. यह एक organization है जो IP address के लिए domain name बांटने की प्रक्रिया करता है. विशेष रूप से, यह हर domain name को अपने संबंधित IP address से जोड़ता है.

यह सुनिश्चित करता है कि दुनिया भर के सभी unique domain names को ठीक से co-ordinate किया गया है ताकि Internet खुद automatically कार्य कर सके. यह संस्था 1998 से काम कर रही है.

अंततः, उनके योगदान से DNS के लिए एक stable वातावरण बना रहता है और पूरा web infrastructure बड़ी सहजता से चलता है.

DNS क्या है – What is domain name system in hindi

DNS का full form है Domain Name System. यह वो जादूगर है जो जटिल IP addresses  को आसान domain names में बदल देता है.

सीधे शब्दों में कहा जाये तो, DNS इंटरनेट की phonebook है जो एक record रखता है कि Domain name किस IP address को refer करता है.

यह आपके internet browser को हर बार जब आप address bar में किसी website का URL टाइप करते हैं, तो जानकारी प्राप्त करवाता है.

Domain  के प्रकार

वैसे तो domain नाम के कई सारे प्रकार है, लेकिन आज में आप लोगो को उन प्रकार के बारे में बताऊंगा जो इम्पोर्टेन्ट है. ताकि आप बड़ी ही आसानी से डोमेन नाम का चुनाव कर सके.

1. Top-Level Domain names (TLD)

1985 में, Internet Corporation for Assigned Names and Numbers (ICAAN) ने 6 top-level domain names release किए. ये top-level domain  (TLD) domain name के extension के रूप में जाने जाते हैं, ये domain में dot (.)के bad का हिस्सा है और domain name system के top के level पर होते है. उनमे शामिल है:

  • .com (commercial)
  • .net (network)
  • .edu (education)
  • .org (organisation)
  • .mil (military)
  • .gov (government)
  • .biz (business)
  • .info (information)

2. Country code top-level domains (ccTLD)

इस प्रकार के domain name का इस्तेमाल specific country को ध्यान में रख के किया जाता है. ccTLD किसी देश के Two Letter ISO code पर भी आधारित होता है. इसमें कुछ important domain extensions शामिल है:

  • .us (United States)
  • .in (India)
  • .ca (Canada)
  • .br (Brazil)
  • .uk (United Kingdom)

Subdomain क्या होता है

एक subdomain आपके मुख्य डोमेन main का एक अतिरिक्त हिस्सा है. आपकी website के विभिन्न section को navigate करने के लिए subdomain बनाए जाते हैं. आप अपने मुख्य domain पर कई subdomain या child domain बना सकते हैं. Subdomain को ख़रीदा नहीं जाता, ये बिलकुल free है और इसके लिए आपको कोई charge नहीं लगता. 

उदाहरण के लिए – 

Google.com का एक subdomain है store.google.com

इस उदहारण में “store” subdomain है, “google” primary domain और “.com” top level domain (TLD) है. आप किसी भी text को अपने subdomain के रूप में use कर सकते हैं, लेकिन आपको यह सुनिश्चित करना हैं कि यह type करना और याद रखना आसान हो.

अपना domain name  कैसे प्राप्त करें – What is domain registration

अपनी पसंद का domain name  पाने के लिए, आपको एक डोमेन नाम registrar पर भरोसा करना पड़ सकता है. यह registrar, बारी-बारी से ICANN के साथ संवाद करेगा, जो आपके IP address पर एक domain name assign करने के लिए जिम्मेदार है.

इस प्रक्रिया में आपको registration शुल्क देना पड़ता है. फिर एक साल के लिए उस registered name के आप मालिक बन जाते हो. उस validity के समाप्त होने के बाद, आपको अपने domain name को renew करना होगा.

Domain name कैसे काम करता है, इसके बारे में सबसे बढ़िया बात यह है कि इस पूरी प्रक्रिया को पलक झपकते ही अंजाम दिया जाता है। एक nano-second में, browser, ऑपरेटिंग system, और nameserver आपको सही website लाने के लिए या आपके email को सही प्राप्त कर्ता को भेजने के लिए एक-दूसरे के साथ संवाद करते हैं.

  1. ऐसा domain name चुने जिसे type करना और याद रखना आसान हो.
  2. हमेशा एक short और easy नाम का चुनाव करे जो याद रखने में आसान हो.
  3. एक unique डोमेन नाम ही choose करें जो किसी और से मिलता जुलता न हो.
  4. हो सके तो इसमें special character जैसे numbers और hyphen का  use न करें.
  5. हमेशा top level domain नाम चूसे करने की कोशिश करें.
  6. याद रखे आपका domain name किसी और business, company या brand के नाम से मिलता जुलता न हो.

> Domain और Web hosting क्या है – General overview

Top domain providers list

यदि आप खुद के लिए कोई blog या business वेबसाइट बनाना चाहते है, या आप खुद domain खरीदना चाहते है. तो उसके लिए आपको domain name registrar की जरूरत पड़ेगी जो domain name service provider होता है.

आप domain service provider के website पर एक accouint बना के अपना unique domain रजिस्टर कर सकते है. निचे मैंने आपकी सहूलियत के लिए कुछ Top domain providers की लिस्ट दे रखी है.

  • Godaddy
  • Namecheap
  • Bigrock
  • iPage
  • Domain.com
  • Bluehost
  • Namehero
  • Fastcomet

में उम्मीद करता हूँ की मैंने डोमेन क्या है (What is Domain in Hindi) के बारे में पूरी जानकारी दी है. मेरी हमेशा यही कोशिश होती है की में अपने readers को पूरी तरह से help  करू. में आशा करता हूँ की आपको ये Internet term – Domain name के बारे में पूरी जानकारी मिल गयी होंगी.

अगर आपको कोई doubts हो तो comments में अवश्य पूछे. आप सभी readers से यह अनुरोध है की इस जानकरी को अपने मित्र, परिवार, आस पड़ोसी और रिश्तेदारों से जरूर share करे. ताकि हम लोगो में इसकी जागरूकता होगी और सबको इसका लाभ मिलेगा.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here