क्यु मनाते है धनतेरस और धनतेरस का महत्व क्या है

क्यु मनाते है धनतेरस

क्यु मनाते है धनतेरस और धनतेरस का महत्व क्या है

आज हम inhindi.site पे बात करेंगे क्यु मनाते है धनतेरस और धनतेरस का महत्व क्या है सभी धनतेरस के दिन का बेसबरी से इंतजार करते है खास कर हिंदू धर्म मे इसका एक अलग ही महत्व है मगर कभी ये सोचा है की क्यु मनाते है धनतेरस ? और धनतेरस के दिन ही चिजे क्यु खरीदते है और धनतेरस के दिन कोणसी चिजे खरीदनी चाहीये और कोनसी नही इसके बारे मे आपको पुरी जांकरी देंगे।

सागर मंथन के दौरान धनतेरस के दिन माता लक्ष्मी के साथ भगवान कुबेर प्रकट हुए थे यह भी कहा जाता है की इसी दोरान आयुर्वेद के देवता भगवान धनवंतरी का भी जन्म हुआ इसी कारण इस दिन पर माता लक्ष्मी, भगवान कुबेर और भगवान धन्वंतरि की पूजा करणे का मान है इसी लीये धनतेरस के दिन इनकी पुजा की जाती है।

धनतेरस के दुसरे नाम

बहुत से जगह पर इसे धनतेरस और धनत्रयोदशी भी कहा जाता है तो एक सवाल अब आपका होगा धनतेरस कब है? 2020 मे धनतेरस की तारीक 13 नोहेंबर है। धनतेरस धन की माता मां लक्ष्मी का त्यौहार है दीपावली का 5 दिनों का त्यौहार भी धनतेरस से ही शुरु होता है धनतेरस को और भी कई और नामो से भी जाना जाता है जैसे धनत्रयोदशी, त्रयोदशी या धनवंतरी जयंती।

धनतेरस पर क्या खरीदना चाहीये और क्या नहीं खरीदना चाहिए 

धनतेरस पर पुराणो मे मान्यता है की धनतेरस पुजा विधी जितनी मायने रखती है उसी तरहा इस दिन शुभ वस्तुये खरीदने की मान्यता है, शुभ वस्तूये खरीदने से माता लक्ष्मी का वास और कृपा उनके परिवार और घर पर बनी रहती है और साल भर आर्थिक स्थिति अच्छी रहती है लेकिन धनतेरस पर इस बात का भी ध्यान दिया जाता है की क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए खरीदारी के भी कुछ नियम होते है जिसमे क्या खरीदना चाहिए और क्या नहीं खरीदना चाहिए इसका ध्यान रखना होता है।

> विजयादशमी और नवरात्रि क्यु मनाई जाती है

धनतेरस पर क्या खरीदना चाहिए

अगर बात की जाय धनतेरस पर क्या खरीदना चाहिए पुराणो के हिसाब से सोने और चांदी के सिक्के खरीदे और ये ध्यान रखे उसपर माता लक्ष्मी और भगवान गणेशजी बने हुये हो तो बेहत ही शुभ माना जाता है, इन सिक्कों का पुरे विधी विधान से पुजा करे और अपने पैसे रखने वाली जगह पर रखे ये आपके धन संपत्ति के लीये शुभ और फल दायी माना जाता है।

इस दिन गोमती चक्र खरीदे इसे भी शुभ माना जाता है इसके पीछे मान्यता है की इससे परिजनो की सेहत को अच्छा रहती है और घर मे सुख समृद्धि मे बढोतरी होती है। दिवाली के दिन इनकी पुजा करे और पिले वस्त्रो मे इसे बांध कर इसे पेसो वाली जगह पार रखे।

देवतावों वैद्य देवता धनवंतरी की भी पुजा धनतेरस पर की जाती है उनका प्रिय धातू पितल है, इसी लीये पितल की वस्तु खरीदणे का रिवाज है।

धनतेरस पर ही लक्ष्मी पूजन के लीये माता लक्ष्मी और भगवान गणेश की प्रतिमा खरीद लेनी चाहीये इसी दिन घर मे नया झाडू भी खरीदे, कहा जाता है झाडू से हम जब घर, दुकान या जगह साफ करते है तो इससे नकारात्मक एनर्जि बहार जाती और अच्छी एनर्जि बनी रहती है ।

जो लोग व्यवसायी है उन्हे नये बिल बूक खरीद लेना चाहीये उनकी विधीवत पुजा करे और उपयोग करे जिससे उनके व्यवसाय की नई तरिके से शुर्वात हो सके।

जैसे हमने बाताया धनतेरस के दिन जो भी बर्तन खरीदेने है उन्हे घर लाते ही खाली ना रखे उसके अंदर कुछ ना कुछ जरूर रखिये जिस से आपके घर मे कभी भी अन्न धान्य की कमी नही होगी।

धनतेरस पर क्या नही खरीदना चाहिए

अगर बात की जाय धनतेरस पर क्या नही खरीदना चाहिए तो एसी मान्यता है की धनतेरस के दिन लोहे की बनी चिजे घरमे नही लानी चाहीये, जैसे के धनतेरस के दिन बर्तन खरीदने का परंपरा है तो उस दिन चिजे खरीदते वक्त विशेष ध्यान रखे।

एक बात और ध्यान मे रखीये स्टील भी लोहे का दुसरा समरूप है इसी लीये उस दिन स्टील के बर्तन या सामान न खरीदे चाहे तो आप कॉपर या ब्रोंज के बर्तन ले सकते है।

इसी तरह कांच और अलुमिनियम के भी बर्तन और चिजे लेने से बचे ये इनहे भी धनतेरस के दिन खरीदना वर्जित है।

हमे उम्मीद है धनतेरस की जानकारी आपको पसंद आयी होगी और क्यु इस पर्व को मनाया जाता है और धनतेरस का महत्व क्या है आपको बखुबी समज आया होगा इसी तरह की तमाम और जानकारी आपके लीये हम लाते रहेंगे कमेंट में बताए आर्टिकल कैसा लगा और इस आर्टिकल को अपने दोस्तो से और family मेंबर को Facebook, WhatsApp, twitter पे जरूर share जरूर करे धन्यवाद।

Disclaimer – इस आर्टिकल की जानकारी धार्मिक किताबो और पब्लिक न्यूज पेपर मे से ली गयी है अगर किसिको इस आर्टिकल से आपत्ति हो तो हमे कॉमेंट करे या ईमेल करे।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here